03-Dec-2016

समाज का गौरवशाली अतीत ही नयी पीढ़ी को आगे बढ़ने की प्रेरणा देता है – डॉ. मोहन भागवत जी

महाराणा प्रताप के जीवन को समर्पित मेवाड़ एवं भारत के गौरवशाली इतिहास को जीवन्त करने वाले ‘राष्ट्रीय तीर्थ – प्रताप गौरव केंद्र, उदयपुर’ का लोकार्पण राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी तथा राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे जी ने किया. कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री भारत सरकार महेश गिरि जी एवं राजस्थान सरकार के गृहमन्त्री गुलाबचन्द जी कटारिया भी मंच पर उपस्थित थे.

आगे पढ़िए

समाज को सही दिशा में मोड़ने वाली नारी शक्ति..!

भारत में नारी शक्ति का सम्मान प्राचीन काल से रहा है. भारत की संस्कृति और सभ्यता को बनाये रखने में यहाँ की महिलाओं का बहुत बड़ा योगदान रहा है. भारतीय समाज समय के साथ काफी बदला है. लेकिन इसके मूल्य आज भी वही हैं. समय के साथ भारतीय समाज में बदलाव लाने का काम यहाँ की महिलाओं ने किया है. प्राचीन काल से चली आ रही परंपरा के साथ समाज को एक नये मुकाम पर पहुँचाना आसान बात नहीं है. अक्सर देखा जाता है कि या तो परंपराओं के साथ समझौता करना पड़ता है, या बदलाव के साथ. लेकिन भारत एक ऐसा देश है, जहाँ न तो परंपराओं के साथ खिलवाड़ हुआ है, और न ही बदलाव के साथ. प्राचीन काल से ही भारत को बदलने और विकसित करने में महिलाओं का विशेष योगदान रहा है.

आगे पढ़िए

Contribution of Indian women alone would make India a strong nation – Shanta Akka Ji

“It is imperative today to take the youth towards a positive and inclusive direction, to confront a well-planned conspiracy that is being worked out by provoking the youth of Kashmir Valley as well as the youth of the rest of India along the lines of communal and caste divisions. Rashtra Sevika Samiti through it varied social programmes has taken on the challenge to empower and enlightened the youth and leading them towards a constructive path”.

Read More

Through his Dheyay Jeevan, Suruji will be remembered as a ‘RatnaDeep’ – Suresh Soni Ji

“K Suryanarayan Rao, popularly known as Suruji, dedicated his entire life for a noble cause, Dheyay Jeevan, for the sole purpose of serving the society. His contributions to the organisation both in terms of structure and ideology will be ever remembered. He was a ‘Ratnadeep‘ by all means. As a Pracharak, Sanghatak he was known for his committed life for the society” said RSS Sah sarkaryavah Suresh Soni Ji.

Read More

A unique event YODHA VANDANA held as a part of HSSF-2016

Saluting the bravery and sacrifice of soldiers of Indian Army and imbuing the spirit of patriotism on our motherland, a unique event YODHA VANDANA was held today morning at RJS PU College, Koramangala Bengaluru. The event was held as a Pre-Fair activity of upcoming major event Hindu Spiritual and Service Fair-2016 which will be held from December 14 to 18 at National College Grounds, Basavanagudi, Bengaluru.

Read More
Advertisements